Month: April 2020

भारतीय संविधान के अनुसार भारत में आपातकाल की स्थिति

जब किसी देश में बाहरी, आतंरिक या आर्थिक रूप में किसी तरीके के खतरे की आशंका हो तो वहाँ का संविधान उस देश की एकता, अखंडता, और सुरक्षा को बरक़रार रखने के लिए एक प्रावधान देती है, जिसे आपातकाल कहा जाता है। आपातकाल की स्थिति में केंद्र सरकार के पास अत्यधिक शक्तियाँ होती है, जिसके […]Read More

आर्थिक या वित्तीय आपातकाल (Financial emergency) क्या है? अनुच्छेद 360

आज जबकि भारत COVID-19 महामारी से जूझ रहा है, चारों ओर वित्तीय और आर्थिक खतरे मंडरा रहे हैं। सरकार ने विभिन्न आर्थिक योजनाएं की घोषणा की है, जैसेकि रु 1.70 लाख करोड़ का राहत पैकेज, करों को भरने के लिए तारीखों का विस्तार करना, स्वास्थ्य ढांचे के लिए 15,000 करोड़ रुपये प्रदान करना, बैंक खातों […]Read More

सार्वजनिक भविष्य निधि (Public Provident Fund – PPF)

  सार्वजनिक भविष्य निधि (Public Provident Fund – PPF) क्या है?   सार्वजनिक भविष्य निधि (PPF) योजना भारत सरकार द्वारा समर्थित एक लोकप्रिय दीर्घकालिक निवेश विकल्प है जो आकर्षक ब्याज दर और रिटर्न से सुरक्षा प्रदान करता है जो कर से पूरी तरह से मुक्त हैं। निवेशक ऋण, निकासी और खाते के विस्तार जैसी सुविधाएं […]Read More

सनातन धर्म ग्रन्थ वेदांग क्या है?

वेदांग: वेदाङ्ग एक सनातन धर्म (हिन्दू धर्म) ग्रन्थ हैं। वेदार्थ ज्ञान में सहायक शास्त्र को ही वेदांग कहा जाता है। कुल 6 वेदांग है, जिन्हे व्यापक रूप में शास्त्र भी कहा जाता हैं। हालाँकि ये शास्त्र नहीं हैं। 1] शिक्षा 2] कल्प 3] निरूक्त 4] व्याकरण 5] ज्योतिष 6] छंद 1] शिक्षा: मंत्रो के उच्चारण […]Read More

सनातन धर्म में वर्णित 6 शास्त्र

शास्त्र एक संस्कृत शब्द है जिसका अर्थ होता है उपदेश, नियम या तरीका। “शास्त्र” आमतौर पर एक विशिष्ट क्षेत्र या विषय पर एक ग्रंथ या पाठ को सम्बोधित करता है। हमारे सनातन धर्म (वर्तमान में हिन्दू धर्म ) में 6 शास्त्र वर्णित हैं। 1) न्याय शास्त्र 2) वैशेषिक शास्त्र 3) सांख्य शास्त्र 4) योग शास्त्र […]Read More

सनातन धर्म ज्ञान – वेद, शास्त्र, आश्रम, अर्थ, पुरुषार्थ, इत्यादि

बहुत से लोग सनातन धर्म से सम्बंधित वेदों, शास्त्रों, अर्थ, पुरुषार्थ इत्यादि को ढूंढते रहते हैं। इस लेख के माध्यम से ये सारी जानकारी एक जगह देने की कोशिश की है हमने। अगर कोई त्रुटि हो इसमें तो कृपया हमें अवगत करने की चेष्टा करें। हम अपनी जानकारी में निरंतर शुद्धि के लिए प्रयासरत हैं। […]Read More

बटुकेश्वर दत्त – एक गुमनाम क्रन्तिकारी

हाँ, ये वही बटुकेश्वर दत्त हैं जिन्होंने भगत सिंह के साथ 8 अप्रैल 1929 को दिल्ली असेंबली में बम फेंका था और इंकलाब जिंदाबाद के नारे लगाते गिरफ़्तारी दी थी। उनका जन्म 18 नवंबर 1910 को बंगाल के बर्धमान से 22 किलोमीटर दूर औरी नामक एक गांव में हुआ था। वह 1928 में गठित हिंदुस्तान […]Read More

वेट बाजार (wet market) क्या है?

एक वेट बाजार (wet market) वो बाजार है, जहाँ ताजा मांस, मछली, समुद्री जीव, इत्यादि जल्दी ख़राब होने वाले चीजों की बिक्री की जाती है। यह शुष्क बाजारों (dry markets ) से अलग है, जो कपड़े और इलेक्ट्रॉनिक्स जैसे टिकाऊ सामान बेचते हैं। । कुछ वेट बाजार ज़िंदा जानवरो को भी बेचते हैं। सभी वेट […]Read More